खेल

Babar Azam बने Pakistan के नए कप्तान | Shaheen से क्यों छीनी गई कप्तानी ?

Babar Azam बने Pakistan के नए कप्तान | पंद्रह नवंबर दो हज़ार तेईस बाबर आजम पाकिस्तान टीम की तीनों फॉर्मैट्स से कप्तानी छोड़ने का एक बड़ा फैसला लेते हैं | इकतीस मार्च दो हज़ार चौबीस बाबर आजम को एक बार फिर पाकिस्तान टीम के दोनों फॉर्मैट्स यानी कि व्हाइट बॉल क्रिकेट का नया कप्तान बना दिया जाता है | अब सिर्फ एक हफ्ता हुआ है लेकिन ऐसा लगता है कि पाकिस्तान क्रिकेट में पिछले एक हफ्ते से बवाल मचा हुआ है |

क्योंकि सबसे पहले दो सीनियर प्लेयर्स यानी कि मोहम्मद आमिर और साथ में इमाद वसीम दोनों अपना रिटायरमेंट वापस ले लेते हैं और ये अनाउंसमेंट कर देते हैं कि वो टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप दो हज़ार चौबीस के लिए खुद को अवेलेबल कर रहे हैं | इसके बाद कुछ खबरें सामने आती हैं कि अब पाकिस्तान टीम है और जो सेलेक्टर्स हैं वो शाहीन शाह अफरीदी में भरोसा खो चुकी है |

Babar Azam बने Pakistan के नए कप्तान

और टीम चाहती है कि टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप दो हज़ार चौबीस और साथ में जो न्यूजीलैंड के अगेंस्ट एक होम सीरीज खेली जानी है, उसके लिए एक बार फिर बाबर आजम को कप्तान बना दिया जाए | और ये खबरें सिर्फ आनी शुरू ही हुई थी कि अब पी सी बी की ओर से एक ऑफिसियल अनाउंसमेंट आ चुका है जिसमें ये अनाउंस कर दिया गया है कि पाकिस्तान टीम की कप्तानी अब ODI में और T20 में एक बार फिर से बाबर आजम करेंगे |

अब ऐसा लगता है कि जो कहानी पी एस एल से शुरू हुई थी वो पी एस एल में आकर ही खत्म हो गई क्योंकि आपको अगर इन सीरीज ऑफ इवेंट्स की शुरुआत में ले चले तो ये शुरू हुआ था ओह डी आई वर्ल्ड कप दो हज़ार तेईस में जब पाकिस्तान की टीम बाबर आजम की कप्तानी में टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी | जिसके बाद चाहे सेलेक्टर्स हों, चाहे पाकिस्तानी मीडिया हो या फिर बड़े बड़े एक्सपर्ट्स हों सभी कहने लगे थे | कि बाबर आजम की खराब कप्तानी और उनकी धीमी बल्लेबाजी की वजह से ही पाकिस्तान की टीम नॉकआउट तक नहीं पहुँच पाई |

जिसके बाद उन पर प्रेशर डाला गया कि वो व्हाइट बॉल क्रिकेट से टीम की कप्तानी छोड़ दें | और अगर वो ऐसा नहीं करेंगे तो उन्हें तीनों फॉर्मॅट की कप्तानी से हटा दिया जाएगा लेकिन इसके बाद बाबर आजम ने प्रेशर में आकर सिर्फ व्हाइट बॉल नहीं बल्कि तीनों फॉर्मॅट से पाकिस्तान की कप्तानी छोड़ दी |

लेकिन उसी समय अगर पी एस एल की बात करें तो पिछले दो साल शाहीन शाह अफरीदी ने लाहौर कलंदर को टाइटल जिताया और सिर्फ एक बार नहीं लगातार दो साल जिसके बाद पाकिस्तान टीम को लगा कि अब शाहीन शाह अफरीदी ही वो इम्पोर्टेन्ट प्लेयर बन चूके हैं | जो कि पाकिस्तान को इस फॉर्मॅट में लीड कर सकते हैं और जिसके बाद एक बड़ा अनाउंसमेंट आया जिसमें शाहीन शाह अफरीदी को दी गई टी ट्वेंटी की कप्तानी ,जबकी  टेस्ट क्रिकेट के नए कप्तान बने शान मसूद 

और दोनों ही खिलाड़ियों का जो पहला असाइनमेंट था वो कुछ खास अच्छा नहीं रहा क्योंकि शाहीन की कैप्टेंसी में न्यूजीलैंड के अगेंस्ट पांच मैचों की टी ट्वेंटी सीरीज खेली गई, जिसमें पाकिस्तान की टीम चार एक से हार जाती है |

और सेम स्टोरी रहती है शान मसूद के साथ क्योंकि ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए जाती है | और इस सीरीज को भी जो पाकिस्तान की टीम है वो तीन शून्य से हार जाती है जिसके बाद ये सवाल उठने लग जाते हैं कि क्या सच में बाबर आजम को कप्तानी से हटाने का फैसला सही था | इतने में  शुरुआत होती है पी एस एल की और पी एस एल में एक बार फिर से वही कहानी रिपीट होती है | क्योंकि जो शाहीन शाह अफरीदी दो बार टाइटल जीत चूके थे, वही शाहीन शाह अफरीदी की लाहौर कलंदर बॉटम ऑफ़ दी पॉइंट्स टेबल फिनिश करती है और इनसे सिर्फ एक ऊपर होती है कराची किंग्स यानी कि शान मसूद की कैप्टेंसी वाली टीम कराची किंग्स दोनों ही टीमें नॉकआउट में नहीं पहुँच पाती और पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो जाती है |

लेकिन बाबर आजम की पेशावर नाकआउटमें पहुँच जाती है और सिर्फ कप्तानी नहीं बाबर आजम का परफॉरमेंस देखेंगे तो वो भी पहले के मुकाबले बहुत इम्प्रूवमेंट आया उनका जो स्ट्राइक रेट था वो लगभग डेढ़ सौ के आस पास का रहा और कप्तानी के मामले में भी उन्होंने लगभग सभी प्लेयर्स को बीट कर दिया | जिसके बाद ये खबरें आने शुरू हो गई जैसे ही पी एस एल खत्म हुआ ये खबरें आनी शुरू हुई और लगभग पाकिस्तान की हर मीडिया में ये खबर छपी के जो पी सी बी के अध्यक्ष हैं यानी मोहसिन नकवी और सारे के सारे सेलेक्टर्स ये चाहते हैं कि अब बाबर आजम ही वो खिलाड़ी हैं जो कि टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप में इस टीम की कप्तानी कर सकते हैं |

Shaheen से क्यों छीनी गई कप्तानी ?

जिसके बाद शाहीन शाह अफरीदी के कुछ निजी सोर्स से पता चला कि शाहीन इस फैसले से खुश नहीं हैं क्योंकि अगर उन्हें कप्तानी से हटाना भी है तो आप उनको एक बार रीज़न कम्यूनिकेट करें क्यों उनसे कप्तानी छीनी जा रही है वो वजह क्या है कि आपने मुश्किल से कुछ महीने के अंदर ही उनको कप्तानी से हटा दिया है शाहीन शाह अफरीदी ने या कहें कि उनके जो निजी सोर्स थे, वहाँ से पता चला कि शाहीन शाह अफरीदी का फ्यूचर टीम के साथ जो भी है, उसको लेकर उनके साथ कोई भी डिस्कशन नहीं किया गया |

उन्हें कुछ भी नहीं बताया गया कि आपसे कप्तानी छीनी जाएगी या फिर अगर छीनी जाएगी तो क्यों छीनी जाएगी कोई भी रीज़न उनको कम्यूनिकेट नहीं किया गया जिससे शाहीन शाह अफरीदी काफी ज्यादा निराश थे इसके अलावा काफी समय से ये चर्चा शुरू हो गई थी कि बाबर आजम से बातचीत की जा रही है कि वो पाकिस्तान टीम की कप्तानी एक बार फिर से शुरू कर दे और इस बात के डिस्कशन में भी शाहीन शाह अफरीदी को इन्वॉल्व नहीं किया गया था, जिससे वो काफी ज्यादा निराश थे |

दूसरी तरफ अगर बाबर आजम की बात करें तो उनसे ये डिस्कशन किया जा रहा था लेकिन वो इसको एक्सेप्ट करने के लिए तैयार नहीं थे कोई भी बड़ा ऑफिसियल स्टेटमेंट नहीं आया था कि वो कप्तानी करने के लिए तैयार है क्योंकि कुछ खबरें ये भी आई कि बाबर आजम चाहते थे कि वो कप्तानी तभी करेंगे जब तीनों फॉर्मॅट की कप्तानी दी जाए और इसी बीच इकतीस मार्च सुबह एक बड़ा अपडेट आता है पी सी बी की ओर से जिसमें ये अनाउंसमेंट आ जाती है कि बाबर आजम अब ओह डी आई और टी ट्वेंटी के एक बार फिर से कप्तान बन चूके हैं |

जिसका मतलब ये होता है कि जो अप्रैल में न्यूजीलैंड के अगेंस्ट होम सीरीज खेली जानी है और जून में टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप दो हज़ार चौबीस खेला जाना है दोनों में पाकिस्तान की कप्तानी करेंगे बाबर आजम अब इसके अलावा एक केस तो ये भी याद आता है कि अब इमाद वसीम और मोहम्मद आमिर का क्या होगा क्योंकि वो दोनों प्लेयर्स को शाहीन शाह अफरीदी ने कन्विंस किया था कि आप पाकिस्तान टीम में वापसी करें |

लेकिन अब ना ही शाहीन शाह अफरीदी कैप्टन है और एक ऐसा कप्तान बन चुका है जिनसे इन दोनों खिलाड़ियों के कुछ खास रिश्ते नहीं हैं मोहम्मद आमिर हम सभी जानते हैं बहुत हमेशा वोकल रहते हैं कि किस तरह वो विराट कोहली को हमेशा प्रेफर करते हैं बाबा आजम पर और हमेशा ये खबरें आती हैं कि दोनों के बीच रिश्ते कुछ खास अच्छे नहीं हैं और एक सिमिलर कहानी है इमाद वसीम के साथ, क्योंकि जब दोनों कराची किंग्स के लिए खेलते थे तो काफी अनबन की खबरें आई और इस साल के पी एस एल में भी काफी बवाल उठा जब फेंस थे |

इमाद वसीम को क्राउड में बैठकर बाबर के नाम से चिढ़ाया था तो ये बात तो पक्की है कि दोनों खिलाड़ियों की बाबर आजम से कोई खास अच्छी बॉन्डिंग नहीं है | तो अब सवाल ये है कि क्या मोहम्मद आमिर और इमाद वसीम बाबर की कैप्टेंसी में खेलेंगे बहुत मुश्किल है ,इसके अलावा अगर एक और परस्पेक्टिव की बात करें तो इस समय पाकिस्तान टीम का काकुल में एक ट्रेनिंग कैंप चल रहा था, जिसमें लगभग उनतीस खिलाड़ी मौजूद थे उसमें बाबार आजम भी थे मोहम्मद आमिर भी थे इमाद वसीम भी थे मोहम्मद रिजवान शताब खान और लगभग पाकिस्तान के सभी बड़े खिलाड़ी मौजूद थे |

सोचिए उस ट्रेनिंग कैंप में क्या माहौल हुआ होगा, क्योंकि एक तरफ जब वहाँ आप गए तो कैप्टन शाहीन शाह अफरीदी थे लेकिन शायद जब वापस आएँगे तो आपके कैप्टन होंगे बाबार आजम अब ये कुछ ऐसे सवाल हैं जिनके जवाब पी सी बी को ढूंढने हैं |

की  कप्तान तो बाबार आजम बन गए, लेकिन फिर अगर आपको चार महीने के अंदर उनको कप्तान बनाना था तो उनको फिर हटाया क्यों गया था और अब शाहीन शाह अफरीदी का क्या होगा क्या वो बाबर की कप्तानी में खेल पाएंगे | क्योंकि वो डेफिनिट्ली निराश है वो खुश नहीं है इस फैसले से क्योंकि उनको कुछ भी कम्यूनिकेट नहीं किया गया और इसके साथ एक बात ये भी है कि क्या इमाद वसीम और मोहम्मद आमेर बाबर की कप्तानी में खेलने के लिए तैयार होंगे | ये कुछ ऐसे सवाल है जिनके जवाब पीसीबी को ढूंढने है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *