खेल

Hardik Pandya को ‘Boo’ करने वाले Fans की रविचंद्रन अश्वनी ने लगाई क्लास

Hardik Pandya को ‘Boo’ करने वाले Fans की रविचंद्रन अश्वनी ने लगाई क्लास | अगर आप भी हार्दिक पांड्या को पसंद नहीं करते और आपका भी ये मानना है कि मुंबई इंडियन्स ने रोहित शर्मा को कैप्टेंसी से हटाकर हार्दिक को कप्तान बनाकर एक गलती की है ,और अब जो लोग उन्हें क्रिटिसाइज़ कर रहे हैं, उन्हें ट्रोल कर रहे हैं, उनमें से एक नाम आपका भी है तो आपको एक बार जाकर अश्वनी का स्टेटमेंट जरूर सुनना चाहिए |

Hardik Pandya को ‘Boo’ करने वाले Fans की रविचंद्रन अश्वनी ने लगाई क्लास

क्योंकि ये जो पूरा विवाद है इसकी शुरुआत हुई थी इसी फैसले से, जब मुंबई ने रोहित की जगह हार्दिक को कैप्टन बना दिया था | उस समय तो फिर भी सोशल मीडिया पर कुछ फैन्स ने उन्हें ट्रोल किया, क्रिटिसाइज़ किया और उन पर कुछ कॉमेंट्स पास किए लेकिन ये विवाद अब बहुत ज्यादा बढ़ चुका है | क्योंकि जब से आई पी एल की शुरुआत हुई है पहले वो अहमदाबाद और उसके बाद हैदराबाद ऐसा लगता है कि हार्दिक पांड्या जहाँ भी जा रहे हैं वहाँ फैन उनका पीछा कर रहे हैं |

उन्हें स्टेडियम में बू किया जाता है और चाहे वो गेंदबाजी करें, चाहे बल्लेबाजी करें, चाहे कैप्टेंसी करें, किसी भी तरह से फैन्स उनका पीछा नहीं छोड़ रहे हैं | चाहे सोशल मीडिया हो, चाहे लाइव ग्राउंड हो या फिर कुछ भी हो हार्दिक जहाँ जहाँ जा रहे हैं फैंस उनका पीछा बिल्कुल नहीं छोड़ रहे हैं | अब ऐसे में अगर आप भी इन्ही में से एक फैन है और आप भी बहुत ज्यादा नाराज हैं मुंबई के फैसले से और हार्दिक को हिट कर रहे हैं तो एक बार आपको अश्वनी का स्टेटमेंट जरूर सुनना चाहिए | जो कि आप फाइनली इस विवाद के बीच में आए हैं और हार्दिक पांड्या को बैक करते हुए नजर आए हैं |

अशविन का कहना है कि क्या आपने कभी जो रूट और जॉर्ज बटलर के फैन्स को लड़ते देखा है | क्या आपने कभी स्टीव स्मिथ और पैट कमिंग्स के फैन्स को लड़ते देखा है | मेरे हिसाब से ये पागलपन है, क्योंकि अगर आप किसी खिलाड़ी को पसंद नहीं करते या आप किसी खिलाड़ी से नफरत करते हैं, तो भला उसके लिए टीम क्लैरिफिकेशन क्यों देगी |

और ऐसा पहली बार तो हुआ नहीं है इससे पहले भी कई बार हो चुका है कि कई बार सीनियर प्लेयर जूनियर प्लेयर की कैप्टेंसी में खेल चूके हैं | सबसे बड़ा एग्ज़ैम्पल है सौरभ गांगुली का, जिनकी कैप्टेंसी में सचिन तेन्दुलकर खेले थे | इसके बाद ये दोनों खिलाड़ी राहुल द्रविड़ की कैप्टन सी में खेले फिर ये तीनों खिलाड़ी अनिल कुंबले की कैप्टनसी में खेले और आखिर में ये चारों खिलाड़ी एम एस धोनी की कैप्टेंसी में खेले | और जब एम एस धोनी कप्तान बने थे और उनके अंडर ये सभी खिलाड़ी खेल रहे थे तो वो बहुत दिग्गज खिलाड़ी थे |

लेकिन फिर भी उस टाइम इतना आउटवर्स नहीं आया किसी भी तरह का कोई आउटवर्स नहीं आया जितना की अब आ रहा है | मतलब फैंस वॉर कभी कभी अच्छी लगती है लेकिन इस हद तक नहीं तो सीधे तौर पर अश्वनी का ये कहना है कि जो कुछ भी हार्दिक पांड्या के साथ हो रहा है वो बहुत गलत हो रहा है | क्योंकि चाहे आप कितना भी सपोर्ट कर ले अपने फेवरेट प्लेयर को कुछ समय के बाद टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप शुरू हो जाएगा फिर शायद आप रोहित शर्मा, हार्दिक पांड्या या मुंबई इंडियंस को सपोर्ट ना करें फिर आप टीम इंडिया को सपोर्ट करेंगे 

Troll करने वालों से अश्विन नाराज़

और अश्वनी का भी यही कहना है कि फ्रेंचाइज़ करके ठीक है, लेकिन आखिर में ये सभी हमारे देश के खिलाड़ी हैं और आपको उनका सम्मान करना चाहिए | अब कहीं ना कहीं ये बात सच भी नजर आती है क्योंकि आप अगर इस पूरे केस की बात करें तो हार्दिक पांड्या को ऑफर की गई थी कैप्टनसी उन्होंने कोई मांगी नहीं थी, उनसे कोई जबरदस्ती नहीं उन्हें दी गई थी ये कैप्टनसी मुंबई इंडियन्स ने ऑफर की और उन्होंने एक्सेप्ट कर ली उसके बाद जो कुछ भी हुआ, उस पर बात करना ठीक नहीं है |

लेकिन एक बात तो है कि हार्दिक पांड्या हमेशा से एक ऐसे प्लेयर रहे हैं जिन्होंने मुश्किल सिचुएशन में टीम इंडिया के लिए बहुत बार कंट्रीब्यूशन दिए हैं | वो आपको याद आएगा बांग्लादेश के अगेंस्ट आखिरी ओवर जब उन्होंने आखिरी ओवर में रन डिफेंड किए थे और बांग्लादेश के अगेंस्ट मैच जिताया था, फिर आपको वो चैंपियंस ट्रॉफी याद आएगी पाकिस्तान की आगे जब हार्दिक पांड्या अकेले खड़े हुए थे टीम इंडिया के लिए और पूरी की पूरी पारी वहाँ पर सिमट गई थी |

इसके बाद चाहे आप वो एम सी जी में खेला गया टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप का मुकाबला याद करें जब उन्होंने विराट कोहली का साथ दिया था और क्रीज पर लगातार उनके साथ खड़े रहे थे | या फिर आप याद कर ले दो हज़ार उन्नीस का वर्ल्ड कप जब लगभग बीस से तीस रन पे इंडिया के चार विकेट गिर चूके थे उसके बाद हार्दिक ही थे जिन्होंने ऋषभ पंत के साथ मिलकर एक पार्टनरशिप बनाई थी | तो ऐसे बहुत मौके आपको याद आएँगे जहाँ पर हार्दिक पांड्या ने टीम इंडिया की लार्ज बचाई है या फिर कहीं के टीम इंडिया के लिए जब जब जरूरत हुई है तब तक हार्दिक पांडे खड़े रहे |

लेकिन अब क्योंकि एक फ्रैन्चाइज़ क्रिकेट की एक टीम की कप्तानी उन्हें दे दी गई है तो फैंस उनके सारे कंट्रीब्यूशन भूल चूके हैं और ये बात सच है रविचंद्रन अशविन की बात एक दम सच है पहले बहुत बार हुआ है इवन बहुत कंट्रीज़ में भी ये हो चुका है कि सीनियर प्लेयर्स खेल रहे हैं जूनियर प्लेयर्स की कैप्टनसी में | तो इंडिया में ऐसी क्या दिक्कत है इतना ज्यादा उन्हें क्यों टारगेट किया जा रहा है क्यों बू किया जा रहा है | इतना आप उनको क्यों क्रिटिसाइज़ कर रहे हैं अब अशविन के स्टेटमेंट पर आपको क्या लगता है क्या सच में अशविन का स्टेटमेंट सही है |

क्योंकि अभी तो ठीक है, फ्रेंचाइज़ क्रिकेट है, मुंबई इंडियंस है और रोहित शर्मा vs हार्दिक पांड्या जब टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप आएगा तब क्या करेंगे क्योंकि अभी तो जो फैन स्टेडियम में जाकर उम्मीद कर रहे हैं कि हार्दिक पांड्या आउट हो जाएं, ना वो बैटिंग कर पाए, ना वो बोलिंग कर पाए, ना वो कैप्टेंसी कर पाए, लेकिन जब वो टी ट्वेंटी वर्ल्ड कप में इंडिया के लिए खेलेंगे क्या तब क्या तब भी आप यही सोचेंगे | एस एन इंडियन फैन क्या आप चाहेंगे कि हार्दिक पांड्या आउट हो जाएं क्या वो अच्छे से गेंदबाजी ना कर पाए और टीम इंडिया हार जाए डेफिनेटली आप ये नहीं सोचेंगे |

तो अब थोड़ा सा समय आ गया है जब फैन वॉच को साइड में रख के आपको अपने प्लेयर को बेक करना होगा | क्योंकि ये प्लेयर आपके लिए सब कुछ झोंकते हैं मैदान पर ,जब टीम इंडिया आएगी तो आपको वर्ल्ड कप जिताने की ये पूरी कोशीश करेंगे तो रविचंद्रन अशविन की बात बहुत सही नजर आती है ,कि फैन वॉश का ये तो पागलपन है आपको अपने खिलाड़ियों को सपोर्ट करना चाहिए क्योंकि वो आपके देश के खिलाड़ी है वो आपके देश के लिए खेलते हैं, उनका सम्मान कीजिए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *